IGU Result | University News | Admission, Previous Year Paper | Exam Form Alert

Indian Army  Bharti related protest in Alwar Rajasthan

दोस्तों सेना भर्ती  मैं आने की वजह से अलवर राजस्थान में बच्चों ने किया प्रोटेस्ट और उसमें बहुत से बच्चों ने बढ़ चढ़कर भाग लिया और सरकार के खिलाफ प्रोटेस्ट की और एक आंदोलन छेड़ दिया जिससे अभी तो पुलिस द्वारा दबा दिया गया है और बताया जा रहा है कि वहां पर धारा 144 के तहत सभी बच्चों को वापस भेज दिया गया है और अब कोई प्रेक्टिस नहीं हो रहा है इसका नेतृत्व संदीप  मौला ने किया था और उन्होंने बताया कि हम बस एक प्रोडक्ट करना चाहते थे कि सरकार को बता सके कि हमारी भर्तियां क्यों नहीं आ रही और पिछले 3 साल से अलवर में कोई भर्तियां नहीं निकाली गई है और इसके चलते बच्चे बहुत परेशान हैं और वह सेना भर्ती की इस भर्तियां होने की मांग को लेकर प्रोटेस्ट करना चाहते थे लेकिन राजस्थान पुलिस द्वारा उन्हें बीच में ही रोक दिया गया और उनका प्रोटेस्ट पूरा नहीं हो पाया इस आंदोलन में बच्चों ने बढ़ चढ़कर भाग लिया था

 संदीप मौजा जो कि  एक बड़ी हस्ती निकाल कर आई थी बच्चों को उनकी रैली भर्ती के प्रति आवाज उठाने के लिए सरकार ने उन्हें दबा दिया और उनकी कोई मांग पूरी नहीं की गई और उन्होंने सिर्फ यही कहा था कि हम अपनी मांगे सरकार के पास रखना चाहते हैं लेकिन राजस्थान पुलिस द्वारा उन  को डराया गया और उन्हें पकड़ा भी गया है बताया जा रहा है कि राजस्थान पुलिस द्वारा यह क्या किया गया बच्चों को कि यहां पर धारा 144 लगी हुई है और  इसके तहत सरकार ने इस प्रोटेस्ट को दबा दिया है और क्या-क्या मांगे थे संदीप मौला कि आप जान सकते हैं

Reason Behind Alwar Rally Protest बच्चों ने ऐसा क्यों किया

 सबसे बड़ी वजह यही बताई जा रही है कि बच्चों ने इस आंदोलन को शुरू करने की की अलवर शहर में पिछले 3 साल से कोई सेना भर्ती या नहीं आई है और इसके चलते बच्चे आक्रोश और अपनी उम्र जाने की दुख से परेशान है और उन पर अपने परिवार का जिम्मेदारियां हैं और इसके चलते अब तक उनकी कोई भर्तियां नहीं कराई गई है सेना भर्तियां इसी वजह से बच्चों ने सरकार को अपनी मांगे पूरी करने के लिए और भर्तियां कराने के लिए अलवर शहर में एक प्रोडक्ट जारी किया था और जिसमें सरकार को बता सकें कि हमारी भर्तियां अब तक क्यों नहीं कराई जा रही है  जबकि सभी  चुनाव रैली कराई जा रही है और भी सब कुछ संदेश शहर में हो रहा है लेकिन भर्तियां करने के लिए अब तक 3 साल हो गए हैं बच्चों की उम्र निकल चुकी है और बहुत से बच्चे बेरोजगारी का शिकार हो चुके हैं इसके चलते बहुत से बच्चे हताश निराश हो चुके हैं

Demand of Students बच्चों की  इस आंदोलन में क्या मांगे हैं?

 जैसा कि आपको पता है कि इस आंदोलन को अलवर शहर के बच्चों और संदीप मौज आज जो कि उनके लेटर थे उन्होंने चलाया था और इसकी मुख्य मांग रही थी कि सेना भर्ती है जल्द से जल्द कराई जाए और बच्चों को 3 साल की छूट दी जाए सेना भर्ती में जो कि बच्चे उम्र निकल चुकी है और वह अब भर्तियां में भाग ले सके और वह भी सेना भर्तियां ज्वाइन कर सके यही कुछ मांगे थे इस आंदोलन के पीछे और ऐसे ही आंदोलन दिलजीत शहर में भी कराए गए थे बच्चों के द्वारा जिसमें जंतर मंतर और मुखर्जी नगर में यह आंदोलन कराए गए थे इसमें हमारे डिफेंस मिनिस्टर राजनाथ सिंह ने कहा था कि 1 महीने के अंदर आप भी एडमिट कार्ड और भर्तियां का नोटिफिकेशन आ जाएगा लेकिन अब तक कोई इसका आता पता है नहीं  इसी बात से परेशान होकर बच्चों ने फिर से धरना प्रदर्शन और आंदोलन का सहारा देते हुए सरकार को अपनी मांगे बताने की  कोशिश की है

 सेना भर्तियों में 3 साल की उम्र में छूट  की मांग को लेकर आंदोलन शुरुआत हुई थी और इस आंदोलन को राजस्थान पुलिस द्वारा बहुत समझदारी से दबा दिया गया और जो कुछ बच्चे इस आंदोलन में भाग लिए थे उनको वहां से हटा दिया गया है और उनके मेन लीड संदीप मौज ने कहा है कि हम सिर्फ एक छोटा सा आंदोलन करना चाहते थे लेकिन अब सरकार ने हमें इस आंदोलन करने से मना कर दिया है लेकिन अब हम बड़ा आंदोलन करेंगे और आज तो हम कलेक्टर साहब को अपना एड्रेस दे कर चल जाएंगे और फिर एक बड़ा आंदोलन के साथ फिर से लौटेंगे और देखते हैं यह बड़ा आंदोलन अब कब होगा आज 4 मई को ही आंदोलन कराया गया था लेकिन इसे सरकार द्वारा दबा दिया गया लेकिन देखते हैं बच्चों को आक्रोश कब बाहर निकलता है और फिर से एक आंदोलन का रूप ले लेता है

Follow Us On https://www.instagram.com/_gagan_gothwal/

Leave a Comment